+

माइक्रोसॉफ्ट को पीछे छोड़ एपल बनी दुनियां की नंबर 1 कंपनी

दुनियां की सबसे बड़ी कंपनियों की होड़ में एपल ने एक बार फिर बाजी मार ली है। एपल दुनियां की सबसे ज्यादा मार्केट कैप वाली कंपनी बन गई है। मंगलवार को एपल ने माइक्रोसॉफ्ट को पीछे छोड़ कर यह पोजीशन हासिल कर ली है। जहां माइक्रोसॉफ्ट का मार्केट कैप 58.14 लाख करोड़ रुपए है, वहीँ एपल का वैल्यूएशन 58.29 लाख करोड़ रूपए हो गया है। सबसे बड़ी कंपनियों की फेहरिस्त में तीसरा नाम अमेजन का है। अमेजन 57.93 लाख करोड़ रुपए की मार्केट कैप के साथ तीसरे नंबर पर है। बीता कुछ समय एपल के लिए बेहद अच्छा रहा। मंगलवार को एपल का शेयर 1.71% फायदे में रहा। इसी तरह से पिछले 5 ट्रेडिंग सेशन में इसमें तेजी बनी हुई थी। इस वजह से कंपनी के मार्केट कैप में खूब इजाफा हुआ। 

प्रतीकात्मक

 

पहले भी बन चुकी है एपल सबसे बड़ी कंपनी

इससे पहले भी एपल दुनियां की सबसे बड़ी कंपनी बन चुकी है। लेकिन पिछले साल नवंबर में माइक्रोसॉफ्ट, एपल को पीछे छोड़ सबसे बड़ी वैल्यू वाली कंपनी बन गई थी। लेकिन जनवरी में अमेजन ने माइक्रोसॉफ्ट को पीछे छोड़ दिया था। उसके बाद फिर पिछले दिनों माइक्रोसॉफ्ट नंबर 1 पर पहुंच गई थी। 

प्रतीकात्मक

 

यह आंकड़ा छूने वाली दूसरी कंपनी बनी थी एपल

पिछले साल एपल को शेयर में बड़ा फायदा हुआ था। अगस्त 2018 में एपल का मार्केट कैप 68 लाख करोड़ रूपए तक पहुंच गया था। इसके साथ ही एपल यह मुकाम हासिल करने वाली दुनियां की दूसरी कंपनी बन गई थी। इससे पहले नवंबर 2007 में चीन की पेट्रोचाइना का मार्केट वैल्युएशन इस स्तर पर पहुंचा था। लेकिन कुछ समय बाद आईफोन की बिक्री घटने से कंपनी को काफी नुकसान हुआ और कंपनी के शेयर में गिरावट आ गई। इससे एपल का मार्केट कैप माइक्रोसॉफ्ट और अमेजन से पिछड़ गया था।