+

भारत में बंद हो सकती हैं TikTok,LIKE,Kwai जैसे ऐप

प्रतीकात्मक

आजकल लोगों के मनोरंजन के लिए फेसबुक, यूट्यूब, व्हाट्स एप और ऐसी ही कई सोशल साइट्स और एप हैं, जो पिछले कुछ सालों से युवाओं के साथ-साथ बच्चों और बूढ़ों को भी काफी प्रभावित कर रही हैं। लेकिन आजकल कुछ और सोशल एप्स ने युवाओं और खासकर बच्चों के बीच खूब मार्केट बना ली है। ये एप्स टिकटॉक, कवाई, लाइक और अन्य नामों से आजकल हर नौजवान लड़का या लड़की के फोन में देखने को मिल जाती हैं। 

इन एप्स में कुछ वीडियो खूब मज़ेदार हैं, तो कुछ वीडियोज़ खूब अश्लीलता के साथ सबके सामने परोसी जा रही हैं। इन एप्स की प्रमोशनल वीडियोज़ भी आपको फेसबुक पर कुछ अश्लील कंटेंट के साथ देखने को मिल जाएंगी। इसी वजह से ये बच्चों और युवाओं के बीच खूब लोकप्रिय भी हो रही हैं। लेकिन इसी बीच यह बात अब सरकार तक भी पहुंच गयी है। 

प्रतीकात्मक

बीजेपी सांसद ने कहा, बंद हों ऐसे एप्स 

बीजेपी सांसद राजीव चंद्रशेखर ने TikTok, Kwai, LiveMe, LIKE और ऐसी ही कुछ अन्य एप्स पर आपत्ति जताते हुए बैन लगाने की मांग की है। यहां तक की राजीव चंद्रशेखर ने इस संबंध में आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद को भी पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने लिखा कि इन एप्स को भारत में तुरंत बैन कर देना चाहिए, क्योंकि इनसे बच्चों का भविष्य खराब हो रहा है। इन एप्स पर अश्लील वीडियो और कंटेंट परोसा जा रहा है। उनका कहना है कि भारत में 44.4 फीसदी बच्चे हैं और ऐसे एप्स से उनके भविष्य को खतरा है। लेकिन आईटी मंत्रालय का इस ओर कम ध्यान है। एक रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 में भारत में करीब 24 लाख ऑनलाइन चाइल्ड सेक्सुअल की शिकायतें दर्ज की गई हैं। 

प्रतीकात्मक

इन एप्स में लड़के और लड़कियां वीडियो के साथ लिपसिंक करके छोटी छोटी वीडियो बना रहे हैं। कुछ तो अपनी आवाज़ रिकॉर्ड कर गालियां भी डाल रहे हैं। 13 से 19 साल के लड़के तथा लड़कियां इन चाइनीज़ एप्स पर वीडियो बनाकर ट्रेंड होने को खूब पसंद कर रहे हैं। जिससे भारत में चाइनीज़ एप्स का खूब दबदबा बन रहा है।