+

CBI की बड़ी जीत, पुलिस कमिश्नर से पूछताछ के लिए SC ने दिया आदेश

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के धरने के बाद में कोलकाता में लंबा बवाल हो गया है। इस मामले में केंद्र तथा बंगाल पुलिस आमने सामने आ चुकी थी। बंगाल के पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करने के लिए जब सीबीआई वहां पहुंची तो सीबीआई अधिकारियों को ही गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद में केंद्र सुप्रीम कोर्ट पंहुचा और SC ने इस मामले में केंद्र को बड़ी राहत देते हुए आदेश दिया की सीबीआई को पुलिस कमिश्नर से पूछताछ करने को कहा है। 

प्रतीकात्मक

 

SC के मुख्य न्यायधीश ने कहा की पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई की पूछताछ में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। देश में कानून से बढ़ कर कुछ नहीं है, उनको सीबीआई के सवालों का जवाब देना ही होगा। सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है की सबूतों से छेड़छाड़ हुई है  सुदीप्तो राय को जम्मू कश्मीर से गिरफ्तार किया गया है। उनके पास से लैपटॉप तथा सेलफोन मिला है। उनसे हमें वह डेटा भी मिला है जो सुप्रीम कोर्ट को नहीं भेजा गया था। जो सबूत सुप्रीम कोर्ट को दिए गए हैं वे अधूरे हैं तथा फोन कॉल की जानकारी कोर्ट को नहीं दी गई है। अटॉर्नी जर्नल ने कहा की सीबीआई ने दर्ज की गई FIR पर कार्यवाही की है, यह FIR रोजवैली के खिलाफ थी।

प्रतीकात्मक

 

अटॉर्नी जर्नल ने सुप्रीम कोर्ट ने कहा की इस मामले में SIT ने सही से जांच नहीं की थी। इस मामले में TMC से जुड़े लोगों की जांच नहीं की गई थी। सीबीआई को सभी दस्तावेज भी SIT ने नहीं सौपे थे। उस समय SIT प्रमुख DGI थे लेकिन सारी फंग्शनिंग पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार कर रहे थे। खैर इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को बड़ी राहत देते हुए पुलिस कुमार राजीव कुमार से पूछताछ करने का आदेश दिया है।