+

मायावती के 63वें बर्थडे केक के लिए कार्यकर्ताओं में मची लूट, जमकर हुआ हंगामा

बीते दिन 15 जनवरी को बसपा सुप्रीमो मायावती का 63वां जन्मदिन था। इस दौरान अमरोहा से बसपा के जिलाध्यक्ष राम अवतार की अगुवाई में कैलसा बाईपास रोड में स्थित बैंक्वेट हाल में केक का कार्यक्रम रखा गया। जिले भर के पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों का जमावड़ा लगा। मायावती के 63वें जन्मदिन के इस केक के लिए हाल में मौजूद कार्यकर्ताओं ने खूब हंगामा काटा। हाल में केक की ऐसी लूट मची कि मानों किसी कॉमेडी फिल्म का एंडिंग सीन चल रहा हो।

काफी देर तक मायावती के बर्थडे पर आए 63 पाउंड के केक के लिए पुरे हाल में खूब भगदड़ मची रही। इस छीना झपटी में केक का आधा हिस्सा जमीन पर भी गिर गया, लेकिन कुछ कार्यकर्ता जमीन पर गिरे उस केक को भी लूट ले गए। जितना जिसके हाथ में आया, वह उतना ही लेकर निकल पड़ा।

प्रतीकात्मक

कॉमेडी से एक्शन में बदला माहौल

साथ ही हाल में कई बार माहौल कॉमेडी से एक्शन में भी बदलता दिखा। इस दौरान आने वाले लोकसभा चुनाव में किसी बाहरी प्रत्याशी को उतारने के विरोध में कुछ कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। आक्रोशित समर्थकों के बीच खूब कुर्सियां चलीं। जिससे कार्यकर्ताओं की भीड़ के बीच मारपीट से कई कुर्सियां भी शहीद हो गई। हंगामे में मची इस अफरातफरी से कार्यक्रम बीच में ही रोकना पड़ा।

मुख्य अतिथियों ने काटा केक

दरअसल जन्मदिन 63वां था, तो केक भी 63 पाउंड का मंगवाया गया। जन्मदिन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर पूर्व मंत्री राजकुमार गौतम कुछ अन्य पदाधिकारियों ने केक काटा। केक काटते ही वहां मौजूद कार्यकर्ताओं में केक लेने की होड़ मच गई। केक की लालसा में कार्यकर्ता एक-दूसरे पर टूट पड़े। सभी के कपड़े केक से रंगकर नीले-पीले हो गए।

अतिथि भी देखते रह गए हंगामा

इस दौरान अतिथि समेत अन्य पदाधिकारी कार्यकर्ताओं को माइक से शांत रहने को कहते रहे, लेकिन कार्यकर्ताओं को केक के सिवाय कुछ और नहीं सूझ रहा था। थक-हारकर अतिथि गण भी मच से तमाशा देखते रह गए। हंगामे की स्तिथि देख बचे केक को कपड़े में लपेटकर मेज के नीचे छुपाया गया। फिर भी जब हंगामा शांत नहीं हुआ, तो वक्ताओं ने कार्यक्रम समाप्त कर दिया। फिर जैसे ही मुख्य अतिथि कार्यक्रम से निकले, कार्यकर्ता और समर्थक कुर्सी फेंककर आपस में लड़ने लगे।